Feeds:
Posts
Comments

Archive for February, 2008

बहुत पहले लिखा था ये शेर, आज भी दिल के बहुत करीब है…..!

तेरी हर बात मानी है हमने,
अब ये ना कहना ऐ दिल धङकना छोङ दे |
दिल है तो धङकेगा,
दर्द होगा,
आँसू भी होंगे,
आँखों से ना कहना छलकना छोङ दे….!

– गौरव संगतानी

Read Full Post »